Interesting Moral Stories In Hindi- “खुदा की इबादत”

If you are searching for Interesting Moral Stories in Hindi then this is one of the best places for you. Here you can get 50+ Best Moral Stories in Hindi. In this post, we are sharing a Moral Story the name is “Khuda ki Ibadat“. this story gives you Moral Value. Visit right now! We hope you will be satisfied with us.

Interesting Moral Story in Hindi


मित्रों! यह एक ऐसा Website है जहां हम रोज एक ऐसे ही Short Interesting Moral Stories Share करते हैं! जो व्यक्ति को एक नैतिक सीख देती है और जीने की कला सिखाती है।

दोस्तों इसमें प्रेषित सभी Moral Stories पाश्चात्य काल के किसी न किसी दैनिक जीवन में घटित घटना से संबंधित है! या फिर लोगों द्वारा कथित तौर पर कही गई है। जो आज निश्चित तौर पर हमारे दैनिक जीवन में घटित होती है।

So Friends! Today’s our

INTERESTING MORAL STORY

” खुदा की इबादत “

एक प्रेमिका अपने रास्ते पर जा रही थी उसे उसके प्रेमी ने कहा कि ठीक बारह बजे अमूक स्थान पर मिलूंगा… और वह उस रास्ते में घर वालो से आँख बचाकर तेजी से बढ़ती जा रही थी। उनकी आंखो  में केवल प्रेमी बसा था।

मार्ग में अकबर चादर बिछाए हुए बैठे थे, नमाज का समय हो गया था। उन्होंने घुटने टेक अल्लाह को स्मरण करना शुरू ही किया था कि

Interesting Moral Story in Hindi

वह प्रेमिका चादर पर पांव रखते हुए तेजी से आगे बढ़ती है। अकबर को बहुत गुस्सा आया, वह बेचैन हो गया। कुछ मिनट बीते और वह प्रेमिका वापस आती हुई दिखाई दी। अब उसकी चाल में तेजी नहीं थी, वह “मंथर” नदी की तरह बह रही थी। बहुत धीरे-धीरे आनंद से गुनगुनाते हुए,

और जैसे ही वह चादर के पास आई वह चादर से बचकर निकलने लगी। तभी अकबर ने हाथ पकड़ कर कहा: “ऐ मूर्ख स्त्री! तुम्हें शर्म नहीं आती क्या? मैं जिस चादर पर बैठ कर खुदा की इबादत कर रहा था। तू उस चादर पर पांव रखती हुई चली गई।”  

Short Interesting Moral Stories in Hindi

लड़की ने मुस्कुराते हुए कहा:

“मुझे तो पता ही नहीं था कि आप बैठे हुए थे, उस चादर पर क्योंकि मेरी आंखों में तो प्रेमी बसा हुआ था मेरा लक्ष्य तो  प्रेमी था।”

मगर आप तो खुदा को याद कर रहे थे, अतः आपका ध्यान ईश्वर में था, तो फिर आपको कैसे मालूम पड़ा कि ” मैं यहां से निकली हूं।और मेरे पैर चादर पर पड़े हैं। मतलब आपका ध्यान मेरी ओर था। जबकि मेरा ध्यान अपने प्रेमी की तरफ था।इसलिए मुझे आपकी  चादर दिखाई नहीं दी।”

“मेरी तो बस एक ही भावना थी मुझे बिल्कुल ठीक समय पर प्रेमी से मिलना है उसमें समर्पित हो जाना है।”

इस कथन को सुनकर अकबर को सीख मिली…

1)यही  क्रिया ,यही भावना, यही लक्ष्य,”प्रेम” का होता है।

2)जिसमे वासना नहीं होती, वह खुदा की इबादत होती है। वही सच्चा प्यार है।

MORAL VALUE:

इसलिए कहा भी गया है: “जो भी कार्य करो, पूरे ध्यान से करो” 

एक बात और गांठ बांध लो दोस्तों कि..

 “करो वही जो लगे सही ,या जो कर रहे हो वही सही”

कम से कम एक में तो मन लगाओ।

धन्यवाद!

मित्रो! आज की हमारी स्टोरी “खुदा की इबादत” कैसे लगी और आपने क्या सिखा हमें comment में जरूर बताये! यदि आपके पास भी ऐसी ही Interesting Short Moral Stories in Hindi हैं तो आप हमें Comment में या Contact कर जरुर भेजे उसे आपके फोटो और नाम से साथ हमारे Website के द्वारा लोगो तक पहुचाएंगे।

और दोस्तों इस तरह के शॉर्ट रोचक स्टोरी पढ़ने के लिए हमारे  Website: www.thoughtsguruji.com साथ जुड़े रहिए। इसे अपने अपनों को भी पढ़ाइए,बताइए और सुनाइए

4 Replies to “Interesting Moral Stories In Hindi- “खुदा की इबादत”

  1. Guruji….. God bless you,,,,,,,Great motivated thoughts make the perfect way for all of us.

Leave a Reply

Your email address will not be published.