Small Story in Hindi- “ समस्या का दूसरा पहलू ”

Are you looking for The Small Story in Hindi based on Moral Education? So now you don’t have to search any further. This is a place where we share New stories for children every day. Along with moral education, they are also connected to the real life of the people. I hope you will like Today’s story “ समस्या का दूसरा पहलू ”.

Small Story in Hindi

मित्रों! यह एक ऐसा Website है, जहाँ हम रोज Small Story in Hindi में Share करते हैंजो व्यक्ति को एक नैतिक सीख देती है और जीने की कला सिखाती है|

दोस्तों इसमें प्रेषित सभी Moral Stories पाश्चात्य काल के किसी न किसी दैनिक जीवन में घटित घटना से संबंधित हैया फिर लोगों द्वारा कथित तौर पर कही गई है| जो आज निश्चित तौर पर हमारे दैनिक जीवन में घटित होती है!

So Friends! Today’s our

INTERESTING MORAL STORY

“ समस्या का दूसरा पहलू ”

एक दिन किशोर नाम का व्यक्ति अपने ऑफिस का काम करने में व्यस्त था। तभी उसका बारह साल का बच्चा उसके पास बार-बार गणित का सवाल लेकर उसके पास आता और उसे पूछ-पूछकर परेशन करता।

किशोर अपने बच्चे के इस हरकत को देख परेशान हो रहा था।

किशोर ने इसका हल निकालते हुए सोचा कि क्यों न बच्चे को ऐसा कोई काम दे दूँ जिसमे वह कुछ घंटे उलझा रहे और उतने समय में मैं अपना ऑफिस का काम निपटा लूँगा।

अब जब बच्चा आया तो किशोर ने एक पुराणी किताब उठाया और उसके एक पेज पर जिसमे वर्ल्ड मैप बना हुआ था,
उस पेज को किशोर ने फाड़ दिया और फिर उस पेज को कई छोटे-छोटे टुकड़ो में काट दिया।

Must Read: Small Story in Hindi

किशोर यह टुकड़े बच्चे को देते हुए बोला !

इस पेज पर वर्ल्ड मैप बना हुआ था, मैंने इसे कुछ टुकड़ो में बाँट दिया हैं तुम्हे इन टुकड़ो को जोड़कर फिर से वर्ल्ड मैप बनाना है। अब जाओ इसे जाकर जोड़ो। जब वर्ल्ड मैप बन जाए तब आकर मुझे दिखाना।

बच्चा वह टुकड़े लेकर चला गया। इधर पिता ने चैन की साँस ली कि अब कई घंटो तक बच्चा उसके पास नहीं आएगा। किशोर अब शांति से अपना काम करने लग जाता हैं तभी 5 मिनट में ही वह बच्चा वापस आ गया और बोला- पापा देखिए ! मैंने वर्ल्ड मैप बना लिया है।

पिता ने जब उसे चेक किया तो देखा मैप बिल्कुल सही जोड़ा था।

पिता ने हैरत में पूछा !

बेटा, यह तुमने इतनी जल्दी कैसे कर लिया?

बच्चा बोला- यह तो बहुत ही आसान था पापा। आपने जिस पेज के टुकड़े मुझे दिए थे उसके एक साइड पर वर्ल्ड मैप बना था और एक साइड पर कार्टून। मैंने कार्टून को जोड़ दिया और वर्ल्ड मैप अपने आप ही तैयार हो गया।

पिता बस बच्चे को देखता रह गया।

Moral:

अक्सर हम कई बार बड़ी समस्या सामने आने पर उसे देख यह सोच लेते है, कि समस्या बहुत बड़ी है और वह हल हो ही नहीं सकती।हम उसका एक पहलु देखते हैं और अपना दृष्टिकोण बना लेते हैं, जबकी उसका दूसरा पहलु भी हो सकता है जहाँ से उसका हल बहुत आसानी से निकल आए। इसलिए जीवन में जब भी समस्याएँ आयें तो हर पहलु देखकर उसका हल निकालना चाहिए। कोई न कोई आसान हल जरूर मिल जएगा।

धन्यवाद!

मित्रो आज की हमारी स्टोरी “ समस्या का दूसरा पहलू ” कैसे लगी और आपने क्या सिखा हमें comment में जरूर बताये! यदि आपके पास भी ऐसी ही Small Story in Hindi में हैं तो आप हमें Gmail में जरुर भेजे उसे आपके फोटो और नाम से साथ हमारे Website के द्वारा लोगो तक पहुचाएंगे|

Gmail Id:- shareknowledge98@gmail.com

और दोस्तों इस तरह के शॉर्ट रोचक स्टोरी पढ़ने के लिए हमारे Website:- www.thoughtsguruji.comके साथ जुड़े रहिए |इसे अपने अपनों को भी पढ़ाइए,बताइए और सुनाइए |

Leave a Reply

Your email address will not be published.